बरही में सातवीं आर्थिक गणना-2019 का शुभारंभ, प्रगणक को दिया गया एक दिवसीय प्रशिक्षण

बरही में सातवीं आर्थिक गणना-2019 का शुभारंभ, प्रगणक को दिया गया एक दिवसीय प्रशिक्षण

प्रशिक्षण में कई बिंदुओं पर हुआ चर्चा, प्रगणकों ने सभी जानकारी गोपनीय रखने का दिया आश्वासन
बरही लाइव : अनुज यादव

बरही में शुक्रवार को सातवीं आर्थिक गणना-2019 कार्य का शुभारंभ होना हैं। आर्थिक गणना को लेकर मुख्य प्रशिक्षक भारत सरकार के एनएसएसओ केवी शेखर के अलावे ब्लॉक ई-मैनेजर मुकेश कुमार राणा, जिला सीएससी मैनेजर मो निजामुद्दीन, रौंशन कुमार ने बरही व चौपारण के प्रगणकों को एक दिवसीय प्रशिक्षण दिया। प्रशिक्षण में उन्होंने बताया कि सातवीं आर्थिक गणना कार्य का शुभारंभ हज़ारीबाग में किया जा चुंका हैं। इस कार्य को काॅमन सर्विस सेंटर (प्रज्ञा केन्द्र) के माध्यम से घर-घर जाकर किया जाएगा।

उन्होंने बताया कि प्रज्ञा केन्द्रों के प्रगणक घर-घर जाकर सदस्यों के रोजगार और व्यवसाय के संबंध में जानकारी लेंगे तथा उस जानकारी को मोबाइल एप्प में संधारित करेंगे। उन्होंने कहा कि लोगों की दी गई सभी सूचनाएं गोपनीय रखी जाएंगी और इसका उपयोग किसी भी हालत में विधिक प्रावधानों के लिए नहीं किया जाएगा। जिस प्रकार प्रत्येक दस वर्ष में जनगणना का कार्य किया जाता है, उसी प्रकार आर्थिक गणना का कार्य भी राष्ट्र की विकास योजनाओं के बनाने एवं व्यवसायों या असंगठित क्षेत्र के मजदूरों के विकास कार्य के लिए किया जाता है। उन्होंने बरही के सभी आम नागरिकों, थोक एवं खुदरा व्यवसायियों, असंगठित क्षेत्र के मजदूरों आदि से सातवीं आर्थिक गणना कार्य को पूर्ण करने में प्रज्ञा केन्द्र के प्रगणकों एवं पर्यवेक्षकों को अपेक्षित सहयोग प्रदान करने की अपील की। जिला सीएससी मैनेजर मो निजामुद्दीन, रौंशन कुमार ने भी जानकारी दी।

उन्होंने कहा कि सभी वीएलई प्राप्त सूचनाएं गुप्त रखने की अपील की। मौके पर प्रज्ञा केंद्र संचालक मोती सिंह, अनुज यादव, राकेश रौंशन, नरेश प्रजापति, पंकज कुमार, रितेश कुमार, शिव कुमार, अभिमन्यु कुमार गुप्ता, रणबीर प्रसाद, मुनेश्वर रविदास, मुन्नू कुमार, सुजीत कुमार, सुप्रिया स्नेही, संदीप ठाकुर, कृष्णा कुमार भुइयां, पंकज कुमार, उपेंद्र पांडेय, मंसूर आलम, विनोद कुमार, दीपक कुमार, रोनित वर्मा, बैजू यादव, संदीप पांडेय, ऋषिकेश कुमार, रामदेव यादव, प्रदीप कुमार, तरुण कुमार, मनीष कुमार सहित प्रज्ञा केन्द्र के सुपरवाइजर एवं संचालक मौजूद थे।

You may also like

विधि विद्यार्थियों ने राज्यपाल के नाम कुलपति को दिया ज्ञापन

13 महीने पीछे चल रहे एलएलबी सत्र 2018-21