बेगूसराय में जमीन विवाद को लेकर दो पक्षाें में फायरिंग; गोली लगने से तीन की मौत, छह की हालत गंभीर

बेगूसराय में जमीन विवाद को लेकर दो पक्षाें में फायरिंग; गोली लगने से तीन की मौत, छह की हालत गंभीर

Barhi Live

बछवाड़ा थानाक्षेत्र के चमथा दियारे के गोपटोल में मंगलवार शाम जमीन विवाद को लेकर दो पक्ष आमने-सामने आ गए। दोनों ओर से हुई फायरिंग में महिला समेत तीन की मौत हो गई, जबकि छह लोग गंभीर रूप से घायल हैं। मरने वालों में दो बेकसूर हैं। महिला बाजार जा रही थी, जबकि एक तमाशबीन था।

चमथा तीन पंचायत के नंबर दियारा निवासी बटोरन राय के पुत्र ओपी राय, सेखो राय, सूरज राय, देवेन्द्र राय व विजय राय और चमथा गोप टोल निवासी पूर्व मुखिया धर्मेन्द्र राय के बीच करीब दो बीघा जमीन को लेकर 2002 से ही विवाद चला आ रहा है। मंगलवार शाम बटोरन राय अपने साथियों के साथ जमीन पर फसल बुवाई कर रहे थे। इस बात की जानकारी जब दूसरे पक्ष के धर्मेन्द्र ग्रुप के लोगों को हुई तो वे खेत पर पहुंचकर फसल बुवाई रोकने लगे।

इसी बात को लेकर दोनों में पक्षों में कहासुनी होने लगी, जिसने बाद में खूनी संघर्ष का रूप ले लिया। गोलीबारी के दौरान इन्द्रदेव राय और अमरजीत राय को गोली लगी, जिनकी इलाज के लिए अस्पताल ले जाने के दौरान रास्ते में मौत हो गई। गोलीबारी में पूर्व मुखिया धर्मेन्द्र राय, नवनीत कुमार, टिंकू कुमार, अमन कुमार, अमित कुमार और गुंजन कुमार के भी घायल होने की सूचना है।

बाजार जा रही थी महिला
लगातार हो रही गोलीबारी की आवाज सुन खेत से सटे कुछ लोग सड़क किनारे खड़े होकर घटना को देख रहे थे। इसी दौरान एक गोली चमथा नंबर निवासी जगदीश राय की पत्नी 55 वर्षीय शीला देवी को भी लगी, जिससे उनकी मौत हो गई। शीला देवी बाजार जा रहीं थी। गोलीबारी के दौरान वहीं खड़ी हो गईं, जिसके कारण एक गोली उनके सिर में लगी और घटनास्थल पर ही उनकी मौत हो गई। अमरजीत राय भी घटना देखने के दौरान ही गोलीबारी का शिकार हुआ है।

देर रात तक रुक-रुक कर होती रही फायरिंग
चमथा के ग्रामीणों ने बताया कि रात के पौने नौ बजे तक भी कुछ लोगों के द्वारा रुक-रुक कर फायरिंग की जा रही थी। कोई भी गुट कमजोर नहीं पड़ना चाहता था, इसलिए अपनी दबंगई बरकरार रखने के लिए फायरिंग किए जा रहा था। ग्रामीणों में घटना को लेकर दहशत है। एएसपी अमृतेश कुमार का कहना है कि वह घटनास्थल पर मौजूद थे। घटना के बाद किसी प्रकार की फायरिंग नहीं हुई है। सारी बातें अफवाह हैं।

You may also like

हजारीबागPollution : प्रदूषण मानकों का उल्लंघन, ग्रामीणों ने की सांस लेने में कठिनाई की शिकायत

ग्रामीणों ने की सांस लेने में कठिनाई की