बोंगा की अपहृत युवती का कंकाल 4 महीने बाद बरामद .

बोंगा की अपहृत युवती का कंकाल 4 महीने बाद बरामद .

 13 अप्रैल की रात रामनवमी मेले से हुआ था अपहरण पिता समेत दो सगे भाई पहले ही भेजे जा चुके हैं जेल
मामले में जेसीबी चालक भी गिरफ्तार

बरही लाइव: इचाक

बोंगा गांव से अपहृत युवती का कंकाल बुधवार को सदर क्षेत्र के लंगरा सिमर रौतरा जंगल से पुलिस ने बरामद किया। मृतका रूबी कुमारी पिता सुखदेव भुइयां का अपहरण रामनवमी मेला से लौटने के क्रम में 13 अप्रैल की रात उसके घर के पास से किया गया था। मामले बोंगा गांव निवासी रवि कुमार मेहता, राहुल कुमार मेहता और दोनों के पिता लखन मेहता को पुलिस पहले ही गिरफ्तार कर जेल भेज चुकी है। घटना में शामिल जेसीबी चालक डुमरौन निवासी शशि मेहता को इचाक पुलिस गिरफ्तार कर जब पूछताछ की, तो पूरी घटना की जानकारी पुलिस को मिली। उसके बाद सदर-इचाक सिमाना से सटे लंगड़ा सिमर रौतरा जंगल से जेसीबी से खुदाई की गई। तब जाकर लगभग दस फीट खुदाई करने पर अंदर युवती का कंकाल मिला।

You may also like

रुर्बन मिशन के तहत डिजिटल जागरूकता अभियान का चलाया गया तीसरा यूनिट

रुर्बन मिशन के तहत डिजिटल जागरूकता अभियान का