हरतालिका तीज : अखंड सौभाग्य के लिए किया महादेव का पूजन

हरतालिका तीज : अखंड सौभाग्य के लिए किया महादेव का पूजन

सुहागिन महिलाओं ने निर्जला व्रत रख पति की लंबी आयु को लेकर की कामना

Barhi live : Anuj yadav

सोमवार को बरही में सुहागिन महिलाओं ने निर्जला व्रत रख पति की लंबी आयु को लेकर हरियाली तीज की पूजा की। इस दौरान भगवान शिव और माता पार्वती से प्रार्थना कर आर्शीवाद लिया। शादीशुदा महिलाएं नए लाल वस्त्र पहनकर, हाथों में मेहंदी लगाकर, सोलह श्रृंगार कर पूजा अर्चना की। शुभ मुर्हूत में भगवान शिव और मां पर्वती जी की पूजा की। तत्पश्चात हरतालिका तीज की कथा सुनी। माता-पार्वती पर सुहाग का सारा सामान चढ़ाया। भक्तों में मान्यता है कि जो सभी पापों को हरने वाला हरतालिका व्रत को विधि-विधान से किया जाता है। उसके सौभाग्य की रक्षा स्वयं भगवान शिव करते हैं। इसको लेकर दिन भर पूजा-अर्चना की गई। प्रखंड में हरतालिका तीज का त्योहार हर्सोल्लास व उत्साह पूर्वक मनाया गया। भाद्र मास के शुक्ल पक्ष के तृतीया को मनाया जाने वाले इस पर्व के दौरान शिव और पार्वती की पूजा-अर्चना की गई। व्रती महिलाओं ने बताया कि यह पर्व दांपत्य और गृहस्थ जीवन के लिए बहुत ही खास है। महिलाएं अपनी पति की लम्बी उम्र के लिए उपवास के साथ पूजा-पाठ करती हैं। जिन महिलाओं की शादी के बाद यह पहला तीज था, वे इसको लेकर खास उत्साहित थी। पर्व को लेकर बाजारों में काफी चहलपहल रही। बरही मुख्यालय सहित आस-पास के गांवों में भी श्रद्धा के साथ तीज मनाया गया। कई जगहों पर समूह में महिलाओं ने पूजा किया। अखंड सौभाग्य की कामना को लेकर महिलाओं ने दिन भर निर्जला व्रत रखा। पनम कुमारी व उषा रानी ने बताया कि इस व्रत से जुड़ी एक मान्यता है कि इस व्रत को करने वाली स्त्रियां पार्वती जी के समान ही सुखपूर्वक पतिरमण करके शिवलोक को जाती हैं। सौभाग्यवती स्त्रियां अपने सुहाग को अखंड बनाये रखने के लिए हरितालिका तीज का व्रत करती हैं। इस दिन विशेष रूप से गौरी-शंकर का ही पूजन किया जाता है। मौके पर पूजा देवी, नीतू देवी, उर्मिला देवी सहित अन्य महिलाओं ने बताया कि यह पर्व महिलाओं के लिए खास है।

You may also like

विधि विद्यार्थियों ने राज्यपाल के नाम कुलपति को दिया ज्ञापन

13 महीने पीछे चल रहे एलएलबी सत्र 2018-21