डीसी ने स्वास्थ्य विभाग को किया अलर्ट:संक्रमण व अस्पतालों की स्थिति देखने आएगी टीम, तीन सदस्यीय टीम 10 दिन शहर में रहकर लेगी जायजा

डीसी ने स्वास्थ्य विभाग को किया अलर्ट:संक्रमण व अस्पतालों की स्थिति देखने आएगी टीम, तीन सदस्यीय टीम 10 दिन शहर में रहकर लेगी जायजा

 

BARHI LIVE : SONU PANDIT

केंद्रीय स्वास्थ्य मंत्रालय के निर्देश पर गठित तीन सदस्यीय टीम झारखंड के दौरे पर आ रही है। टीम गुरुवार को शहर पहुंच रही है। इस टीम के तीनों सदस्य देश नामी-गिरामी मेडिकल काॅलेज के डाॅक्टर हैं। इनमें दिल्ली स्थित मेडिकल काॅलेज के दो व एक ओडिशा भुवनेश्वर के मेडिकल काॅलेज के डाॅक्टर शामिल हैं। टीम के सदस्य कोविड-19 से सबसे ज्यादा प्रभावित झारखंड के तीनों शहर जमशेदपुर, रांची और धनबाद का जायजा लेंगे।

टीम चयनित अस्पतालों का जायजा लेगी। इन अस्पतालों में मरीजों का इलाज किस तरह हो रहा है, इसकी जांच की जाएगी। साथ ही प्रशासन की ओर से कोविड -19 से जंग के लिए चलाए जा रहे अन्य अभियान की भी जायजा लेगी। टीम के सदस्य 10 दिनों तक शहर में रुक- रुककर स्थिति का आकलन करेंगे। साथ ही आवश्यकतानुसार सुझाव भी देंगे। टीम के सभी सदस्य मूलत: डाॅक्टर हैं और शोध कार्यों से जुड़े हुए हैं। बता दें कि कोरोना से बीते दिनों शहर में मौत का आंकड़ा बढ़ते ही जा रहा है, वहीं सात हजार 500 के करीब संक्रमितों का आंकड़ा पहुंचने वाला है। इसे लेकर कदम उठाए गए हैं।

तैयारी को लेकर साढ़े चार घंटे चली बैठक

केंद्रीय टीम के आने को लेकर डीसी सूरज कुमार की अध्यक्षता में करीब साढ़े चार घंटे तक बैठक चली। जिसमें स्वास्थ्य विभाग, प्रशासनिक अधिकारी, पुलिस अधिकारी व कोविड अस्पताल के प्रतिनिधि शामिल है। सभी से उनके कार्य की जानकारी ली।

बारीडीह और मानगो में भी कोरोना की जांच

शहर के पांच स्थानों के साथ 11 प्रखंड मुख्यालय में रैपिड एंटीजन टेस्ट हो रहा है। शहर में सामुदायिक केन्द्र कागलनगर, ठक्कर बापा स्कूल धातकीडीह, एम ई स्कूल जुगसलाई, सामुदायिक स्वास्थ्य केन्द्र बारीडीह तथा लाईन्स क्लब मानगो में भी जांच कराई जा रही है।

डीसी का आदेश… निजी अस्पताल-नर्सिंग होम कोविड सस्पेक्टेड वार्ड बनाए, नहीं तो कार्रवाई

डीसी ने सभी निजी अस्पताल व नर्सिंग होम को कोविड का सस्पेक्टेड वार्ड बनाने का भी आदेश दिया। जिन अस्पतालों में सस्पेक्टेड वार्ड नहीं है, उन्हें चिह्नित कर कार्रवाई करने का आदेश दिया। जिन मरीजों को कोरोना नहीं है, उनका भी इलाज कराने को कहा। प्रशासन व पुलिस के अधिकारियों को कहा – लाॅकडाउन में बंद अस्पतालों की सूची बनाएं ताकि चालू करा सके। एमजीएम अस्पताल को 50 बेड व 15 स्ट्रैचर उपलब्ध कराने का आदेश दिया।

You may also like

बरही में गर्मजोशी से हुआ पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल मरांडी का स्वागत

बरही में गर्मजोशी से हुआ पूर्व मुख्यमंत्री बाबूलाल