डीएवी पब्लिक स्कूल में युवा दिवस पर स्वामी विवेकानंद को किया गया श्रद्धा सुमन अर्पित

डीएवी पब्लिक स्कूल में युवा दिवस पर स्वामी विवेकानंद को किया गया श्रद्धा सुमन अर्पित

डीएवी पब्लिक स्कूल में युवा दिवस पर स्वामी विवेकानंद को किया गया श्रद्धा सुमन अर्पि

स्वामी जी के विचार आज भी प्रासंगिक है : प्राचार्य एके सिंह

Barhi live : Sonu pandit   मंगलवार को डीएवी पब्लिक स्कूल बरही में विवेकानंद जयंती पूरे धूमधाम के साथ मनाया गया। दीप प्रज्वलन, माल्यार्पण और वैदिक मंत्रोचार के साथ कार्यक्रम की शुरुआत की गई। संगीत शिक्षक दीपक कुमार के द्वारा एक मधुर भजन प्रस्तुत किया गया।

मंच का संचालन करते हुए राजेश कुमार सिन्हा ने कहा कि स्वामी विवेकानंद ने हिंदू धर्म को पूरे संसार में स्थापित करने का महत्वपूर्ण कार्य संपादित किया था।

धर्मेंद्र कुमार ने बताया कि अपने गुरु के नाम पर रामकृष्ण मिशन कि स्थापना कर के हिंदू धर्म का प्रचार प्रसार किया। अनिल कुमार के द्वारा एक ओजस्वी कविता प्रस्तुत की गई।

विजय कुमार ने बताया कि स्वामी जी पढ़ाई के साथ साथ खेलकूद पर विशेष महत्व देना चाहते थे क्योंकि खेलकूद से ही शरीर का पूर्ण विकास होता है।

अमित चतुर्वेदी के द्वारा एक मधुर भजन प्रस्तुत किया गया। डीएवी पब्लिक स्कूल बरही के प्राचार्य अशोक कुमार सिंह ने स्वामी जी के बारे में बताते हुए कहा कि उनका जीवन पूरे भारतवर्ष के लिए सदैव प्रेरणादाई रहा।

उन्होंने कहा कि स्वामी जी ने कहा था “उठो चलो जागो और तब तक चलते रहो जब तक लक्ष्य की प्राप्ति ना हो जाए।” इसी मूल मंत्र के द्वारा हम अपने जीवन में सदैव विकास के पथ पर अग्रसर हो पाएंगे।

प्राचार्य ने सभी विद्यार्थियों से आग्रह किया कि विवेकानंद के जीवन को अपने जीवन में उतारे उन्हें मनवांछित सफलता अवश्य प्राप्त होगी ।

कार्यक्रम को सफल बनाने में विद्यालय के सभी शिक्षक और शिक्षिका का महत्वपूर्ण योगदान रहा। मौके पर नरसिंह शर्मा, रेखा सिंह, राजेश कुमार सिंह, राजेश कुमार, सुशील कुमार, प्रवीण कुमार राय, रमेश कुमार, निर्मल प्रसाद, उमेश कुमार राणा, अमित कुमार, मुकेश कुमार, लल्लन यादव, मिथिलेश कुमार, आलोक सिन्हा, मंटू कुमार, मुन्नी कुमारी, गुड़िया कुमारी, ममता सिंह, प्रहलाद कुमार, रंजीत कुमार, रविंद्र कुमार पांडेय, प्रदीप गोराई, राजकुमार यादव, गौतम अखौरी आदि की महत्वपूर्ण उपस्थिति रही।

You may also like

झारखंड से पलायन को रोकना झारखंड सरकार की पहली प्राथमिकता : सत्यानंद भोक्ता

झारखंड से पलायन को रोकना झारखंड सरकार की