ग्रामीणों ने डपोक मुखिया के खिलाफ भ्रष्टाचार का खोला पुलिंदा, बीडीओ को सौपा ज्ञापन

ग्रामीणों ने डपोक मुखिया के खिलाफ भ्रष्टाचार का खोला पुलिंदा, बीडीओ को सौपा ज्ञापन

ग्रामीणों ने डपोक मुखिया के खिलाफ भ्रष्टाचार का खोला पुलिंदा, बीडीओ को सौपा ज्ञापन

14वीं एवं 15वीं वित्त योजना में बरती गई अनियमितता एवं स्वच्छ भारत अभियान से बने शौचालय निर्माण कार्य में सरकारी पैसा गबन करने का लगाया हैं आरोप

Barhi live : Sonu pandit   बरही प्रखण्ड अंतर्गत डपोक पंचायत के ग्रामीण मुखिया दुखन पासवान के खिलाफ गोलबंद होते नजर आ रहे है।

ग्रामीणों ने सोमवार को प्रखण्ड विकास पदाधिकारी बरही को एक लिखित ज्ञापन देकर बताया हैं कि पंचायत के मुखिया दुखन पासवान के द्वारा 14 वीं, 15वीं वित्त योजना के अलावा स्वच्छ भारत अभियान के द्वारा शौचालय निर्माण कार्य में भारी अनियमितता बरतने का आरोप लगाते हुए सरकारी पैसा का गबन करने का आरोप लगाया हैं।

गरजामु के ग्रामीणों ने बताया हैं कि उनके मुखिया दुखन पासवान पंचायत के विकास कार्य किये गए हैं, जिसमें पूर्ण रूप से अनियमितता बरती गई हैं। जिसका जांच का मांग किया हैं।

उन्होंने बताया हैं कि ग्राम गरजामु पंचायत डपोक के अंतर्गत 14 वीं एवं 15वीं वित्त योजना से नव प्राथमिक विद्यालय मस्जिद टोला गरजामु में जलमीनार, सोलर, मोटर, टंकी छह माह पूर्व 2020 में लगाया गया था लेकिन एक-दो माह के बाद मुखिया दुखन पासवान ने जल मीनार संबंधित सारा सामान बेच दिया गया हैं, जब ग्रामीण मुखिया से पूछे तो उन्होंने बताया कि इससे अच्छा सामान लगाएंगे, जो आज तक नहीं लगाया गया है।

लोगों को पानी पीने में काफी परेशानी हो रही है, इसे साफ झलकता है कि सरकारी पैसा का गबन किया गया हैं। गरजामु पंचायत डपोक के अंतर्गत स्वच्छ भारत अभियान के तहत 30 लाभुकों का शौचालय निर्माण कार्य करना था, जिसमें डपोक पंचायत के मुखिया दुखन पासवान एवं जलसहिया बेबी देवी के द्वारा संयुक्त रूप से पैसा निकासी कर लिया गया, जबकि एक शौचालय निर्माण योजना में 12000 रुपये प्रत्येक शौचालय दिया गया था, यह पैसा 2 वर्ष में ही निकासी किया गया है।

जलसहिया देवी देवी को पूछे जाने पर बताती है कि उनसे हस्ताक्षर करवाकर सारा पैसा मुखिया दुखन पासवान ले लिया और बोला कि हम खुद बनवा लेंगे। ग्रामीणों ने बताया है कि कई बार मुखिया जी के आवास जाने के शौचालय के संदर्भ में पूछे जाने पर बताया कि जल्द शौचालय बनवा दिया जाएगा।

उन्होंने आवेदन की प्रतिलिपि उपायुक्त हजारीबाग व पंचायती राज पदाधिकारी हजारीबाग को भी दिया हैं। साथ ही अनुरोध किया हैं कि उक्त योजनाओं पर पैनी नजर रखते हुए उचित जांच पड़ताल करते हुए कानूनी कार्रवाई करते हुए ग्रामीणों को न्याय दिलाने की मांग की हैं।

आवेदन देने वालो में अर्जुन रविदास, मो शमीम, मुंशी दास, मो सेराज, मो मुस्तफा, दौलत मियां, सरयू रविदास, धमन दास, खेमियाँ देवी, अख्तर अली, मकबूल अंसारी, गुलाम रसूल, मो हुसैन, मो तफज्जुल, मो याकूब, मो सद्दाम अंसारी, मो समसुल, सहजादी खातून, नूरजहां खातून, अफरोज, इरशाद, रमजान अंसारी, विदेशी दास सहित अन्य हस्ताक्षर शामिल हैं।

You may also like

कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने किया समीक्षात्मक बैठक, बरही विधायक हुए शामिल

कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने किया समीक्षात्मक बैठक, बरही विधायक