हजारीबागPollution : प्रदूषण मानकों का उल्लंघन, ग्रामीणों ने की सांस लेने में कठिनाई की शिकायत

हजारीबागPollution : प्रदूषण मानकों का उल्लंघन, ग्रामीणों ने की सांस लेने में कठिनाई की शिकायत

ग्रामीणों ने की सांस लेने में कठिनाई की शिकायतग्रामीणों ने की सांस लेने में कठिनाई की शिकायतप्रतीकात्मक तस्वीर

Barhi live : Sonu pandit

कटकमसांडी : एनजीटी की टीम ने जिला के बानादाग-कटकमदाग-बांका कोयला साइडिंग की जांच की. जांच दल में एनजीटी नयी दिल्ली से दो सदस्यों के साथ डीसी आदित्य कुमार आनंद, एसडीओ विद्या भूषण कुमार, जिप सदस्य प्रियंका कुमारी आदि भी थे. जांच के क्रम में प्रदूषण मानकों का उल्लंघन की बात सामने आयी.

कोयला साइडिंग के चारों ओर खेतीबारी की जा रही है, जो कोयले के धूल से प्रदूषित पाये गये. किसानों ने बताया कि उनके खेतों में लगी टमाटर एवं अन्य सब्जियां की फसलों को नुकसान पहुंच रहा है. धान की फसलों को भी व्यापक नुकसान पहुंच रहा है. ग्रामीणों ने बताया कि कोयले की धूल से सांस की समस्या बढ़ रही है.

किसानों ने बताया कि उनके 13 सिंचाई कूप कोयला साइडिंग वालों ने भर दिया है और जमीन से बेदखल कर दिया गया है. जांच टीम ने पाया कि एनटीपीसी की चहारदीवारी मात्र छह-सात फीट ही ऊंची है, जो प्रदूषण नियमों का उल्लंघन है. आबादी और खेती से सटे होने के कारण साइडिंग चलाने का ग्रामीणों ने विरोध किया.

कोयला साइडिंग को दूर कहीं निर्जन स्थान पर ले जाने की मांग रखी. टीम ने ग्रामीणों की समस्याओं पर गंभीरता बरतने की बात कही. मौके पर सुधीर प्रसाद, तपेश्वर, मनीष कुमार, महेंद्र प्रसाद, प्रभु साव समेत दर्जनों ग्रामीण मौजूद थे

You may also like

कृषि सुधार कानून के तहत 2022 तक किसानों की आय होगी दोगुनी

Barhi live : sonu pandit   बरही प्रखण्ड के