हजारीबाग गया के आलू व्यवसायी से इचाक में अपराधियों ने लूटे 7 लाख रुपये, एक युवक को मारी गोली

हजारीबाग गया के आलू व्यवसायी से इचाक में अपराधियों ने लूटे 7 लाख रुपये, एक युवक को मारी गोली

Jharkhand news : गया के आलू व्यवसायी नवल कुमार साव से इचाक के ठेपाई नदी के पास अपराधियों ने 7 लाख रुपये की लूटपाट की. Jharkhand news : गया के आलू व्यवसायी नवल कुमार साव से इचाक के ठेपाई नदी के पास अपराधियों ने 7 लाख रुपये की लूटपाट की.

Barhi live : sonu pandit   हजारीबाग जिले के इचाक थाना अंतर्गत ठेपाई नदी के पास अपराधियों ने गया जिले के आलू व्यवसायी से 6 लाख 82 हजार 842 रुपये लूट लिए. वहीं, अपराधियों को रोकने का प्रयास कर रहे दरिया गांव के युवक अशोक प्रसाद मेहता (38 वर्ष) पिता मुरली महतो को गोली मार घायल कर भागने में सफल रहा.

कैसी घटी घटना

गया जिले का लालू व्यवसायी नवल कुमार साव ने बताया कि अपनी मोटरसाइकिल के डिक्की में एक पॉलीथिन में करीब 7 लाख रुपये लेकर कला फुफंदी गांव के किसानों को आलू का पैसा देने के लिए जा रहे थे. इसी दौरान जोगीडीह एवं कला गांव के बीच ठेपाई नदी के पास घात लगाकर हथियार से लैश 3 अपराधियों ने व्यवसायी नवल कुमार साव के साथ मारपीट किया एवं डिक्की में रखे रुपये लूट कर बाईक से फरार हो गया. लूट की घटना के बाद व्यवसायी नवल साव ने मनोज प्रसाद मेहता को फोन कर घटना की जानकारी देते हुए लुटेरों को जगडा गांव की ओर भागने की बात कही. उसी वक्त अशोक मेहता अपने खेत में काम कर रहा था.

अशोक एवं स्थानीय एक अन्य युवक मनोज मेहता ने दरिया पंचायत भवन के समीप बोधा आम के पास दोनों युवकों ने अपराधियों को सड़क पर रोक दिया. अपराधियों एवं युवकों के बीच हाथापाई भी हुई. इस दौरान लुटेरे बाईक सहित गिर गये. इसके बाद अपराधियों ने 2 हवाई फायरिंग किया. इसके बाद भी स्थानीय युवकों ने अपराधियों को नहीं छोड़ा, तो खुद को घिरते देख एक अपराधी ने अशोक प्रसाद मेहता के सीने में गोली मार दी. इससे अशोक घायल होकर जमीन पर गिर पड़ा. इसका फायदा उठाते हुए अपराधी अपने बाईक से भागना चाहा, लेकिन जब बाईक स्टार्ट नहीं हुई, तो अपराधियों ने घायल अशोक मेहता के बाईक को लेकर ही फरार हो गया.

सीजन में दरिया में रहकर आलू खरीदता था व्यवसायी

ग्रामीणों ने बताया कि व्यवसायी नवल कुमार साव पिछले 20 वर्षों से स्थानीय कई गांव के किसानों को आलू का बीज बोने के लिए देता था एवं उपजा हुआ आलू को खरीदकर गया बाजार मंडी में ले जाकर बेचने का काम करता था. लेकिन, करीब 6 साल से सीजन के अनुसार दरिया में ही मनोज मेहता के घर पर रहकर किसानों से आलू खरीदकर गया में अपने भाई की गद्दी में बेच किसानों को घर में जाकर पैसा पहुंचाने का काम करता था.

You may also like

रुर्बन मिशन के तहत डिजिटल जागरूकता अभियान का चलाया गया तीसरा यूनिट

रुर्बन मिशन के तहत डिजिटल जागरूकता अभियान का