ह्यूमन ट्रैफिकिंग की शिकार होने से बचीं 14 लड़कियां, आरपीएफ ने इन्हें कैसे बचा लिया

ह्यूमन ट्रैफिकिंग की शिकार होने से बचीं 14 लड़कियां, आरपीएफ ने इन्हें कैसे बचा लिया

IRCTC/Indian Railways : ह्यूमन ट्रैफिकिंग की शिकार होने से बचीं 14 लड़कियां IRCTC/Indian Railways : ह्यूमन ट्रैफिकिंग की शिकार होने से बचीं 14 लड़कियां

Barhi live : sonu pandit    रांची आरपीएफ की सक्रियता के कारण 14 लड़कियां मानव तस्करी (ह्यूमन ट्रैफिकिंग) की शिकार होने से बच गयीं. इन्हें लातेहार से हैदराबाद सिलाई की ट्रेनिंग के लिए ले जाया जा रहा था. संदेह होने पर इनसे पूछताछ की गयी. महिला तस्कर को पुलिस ने गिरफ्तार कर लिया है.

महिला तस्कर मीना लातेहार से इन सभी 14 लड़कियों को हैदराबाद ले जाने के लिए रांची लायी थी. यहां से इन्हें हैदराबाद ले जाना था. इसी दौरान आरपीएफ को रांची रेलवे स्टेशन के प्रवेश द्वार पर 14 लड़कियां संदिग्ध अवस्था में प्रवेश करती दिखीं. संदेह होने पर उनसे आरपीएफ ने पूछताछ की और इसकी सूचना टीम नन्हे फरिश्ते एवं अधिकारियों को दी गयी. उपनिरीक्षक सुनीता तिर्की की टीम और एएसआई डब्ल्यू खान ने सभी से पूछताछ की. आठ नाबालिग लड़कियों एवं 6 बालिग लड़कियों को कोतवाली थाना प्रभारी, रांची को सौंप दिया गया है, ताकि इस संदर्भ में आगे की कार्रवाई की जा सके.

पूछताछ में लड़कियों ने जानकारी दी कि लातेहार के मनिका के चामा निहारी की मीना देवी (25 वर्ष) सिलाई की ट्रेनिंग के लिए ट्रेन संख्या 07008 से हैदराबाद लेकर जा रही थी. सिलाई ट्रेनिंग के संबंध में पूछने पर मीना देवी न को किसी संस्था का नाम बता पायी और ना ही लड़कियों को सिलाई ट्रेनिंग के लिए कोई वैधानिक दस्तावेज प्रस्तुत कर पायी. उसके परिजन से बात करने पर बताया गया कि उसे इस संबंध में कोई जानकारी नहीं है.

You may also like

कृषि सुधार कानून के तहत 2022 तक किसानों की आय होगी दोगुनी

Barhi live : sonu pandit   बरही प्रखण्ड के