IAF Fighter Plane: चीन और पाकिस्तान निपटने के लिए तैयार है वायुसेना, लड़ाकू विमान भर रहे हैं उड़ान

IAF Fighter Plane: चीन और पाकिस्तान निपटने के लिए तैयार है वायुसेना, लड़ाकू विमान भर रहे हैं उड़ान

चीन और पाकिस्तान की किसी भी हरकत से निपटने के लिए वायुसेना पूरी तरह से तैयार है। पीओके के नजदीक एयरबेस पर वायुसेना के लड़ाकू विमान रात में भी उड़ान भरने के लिए तैयार हैं।

चीन और पाकिस्तान निपटने के लिए तैयार है IAF के लड़ाकू विमान
IAF Ready For Undertaking Operations On Both China, Pakistan Fronts

चीन और पाकिस्तान निपटने के लिए तैयार है IAF के लड़ाकू विमान

Barhi live : Sonu pandit

मुख्य बातें

  • किसी भी चुनौती से निपटने के लिए तैयार है वायुसेना
  • पीओके के नजदीक बने एयरबेस से रात में भी उड़ान भरने के लिए तैयार हैं लड़ाकू विमान
  • चीन और पाकिस्तान की हर हरकत पर है पैनी नजर

नई दिल्ली: ऐसे समय में जब यह संदेह है कि चीन और पाकिस्तान दोनों भारत के खिलाफ एक साथ आ सकते हैं, ऐसे में भारतीय वायु सेना भी पूरी तरह से तैयार है। वायुसेना ने शुक्रवार को कहा कि वह दोनों मोर्चों पर एक साथ संचालन के लिए तैयार है। वायुसेना का फॉरवर्ड एयरबेस जहां से पाकिस्तान करीब 50 किलोमीटर दूर हैं और रणनीतिक दौलत बेग ओल्डी लगभग 80 किलोमीटर है वहां दिन और रात दोनों समय के लिए लड़ाकू, परिवहन विमान और हेलीकॉप्टर तैयार और दोनों पर पैनी नजर रखे हुए हैं।

दिन और रात में उड़ाने के लिए तैयार हैं लड़ाकू विमान

रणनीतिक रूप से महत्वपूर्ण एयरबेस जो श्योक नदी के साथ खार-डूंग के पास है वहां सुखोई -30 एमकेआई और सी -130 जे सुपर हरक्यूलिस, आईयूशिन -76 और एंटोन -32 सहित ट्रांसपोर्ट विमानों का संचालन हो रहा है। चीन के साथ चल रहे संघर्ष के मद्देनजर, लड़ाकू विमान दिन और रात दोनों एयरबेस के बाहर और अंदर उड़ान भर रहे हैं और  परिवहन विमान लगातार वास्तविक नियंत्रण रेखा पर स्थित ठिकानों में सैनिकों के लिए राशन और गोला-बारूद की आपूर्ति सुनिश्चित कर रहे हैं।

हर स्थिति से निपटने के लिए तैयार हैं वायुसेना

पाकिस्तान का स्कार्दू एयरबेस भी यहां से नजदीक है जहां से चीन और पाकिस्तान के साथ आने की संभावना है। इस खतरे की संभावना के बारे में पूछे जाने पर, भारतीय वायु सेना के फ्लाइट लेफ्टिनेंट रैंक के एक पायलट ने बताया, ‘आधुनिक प्लेटफॉर्म के कारण, भारतीय वायुसेना पूरी तरह से प्रशिक्षित है और किसी भी ऑपरेशन को करने के दोनों मोर्चों से तैयार है। हम पूरी तरह से प्रशिक्षित और उच्च प्रेरित हैं। हम भारतीय वायुसेना के आदर्श वाक्य – ‘टच द स्काई विथ ग्लोरी’ को जीते हैं।’

 

About the author

Related Posts

You may also like

कृषि सुधार कानून के तहत 2022 तक किसानों की आय होगी दोगुनी

Barhi live : sonu pandit   बरही प्रखण्ड के