जयनगर के एक अवांछित बीमारी रूपी आपदा से पीड़ित युवक के जीवनरक्षा हेतु सदर विधायक ने दिया 25 हज़ार रु० का आर्थिक सहयोग*

जयनगर के एक अवांछित बीमारी रूपी आपदा से पीड़ित युवक के जीवनरक्षा हेतु सदर विधायक ने दिया 25 हज़ार रु० का आर्थिक सहयोग*

बरही लाइव: हज़ारीबाग़

सदर विधानसभा क्षेत्र के लोगों से हमेशा कंधा से कंधा मिलाकर अपने कर्मठता और संघर्ष के बदौलत क्षेत्र की तकदीर को संवारने में जुटे सदर विधायक मनीष जायसवाल गरीबों और जरुरतमंदों के दर्द को अपना दर्द समझते हैं। जन प्रतिबद्धता के प्रति दृढनिश्चयी होकर वे सदैव लोगों के बीच रहकर उनकी समस्याओं के निदान हेतु हरसंभव प्रयत्नशील रहते हैं। जब किसी के यहां बिमारी रूपी परेशानियां आती है तो दोस्त, रिस्तेदार और हितैसी भी साथ छोड़ जाते हैं। ऐसे समय अगर कोई आपकी परेशानी को समझे और सहयोग करें तो वो रहनुमा से कम नहीं होता ।

असहायों के सहारा बनने वाले ऐसे ही एक जनप्रतिनिधि है हज़ारीबाग सदर विधायक मनीष जायसवाल, जो गंभीर बीमारियों से पीड़ित मरीजों को हरसंभव सरकारी सहयोग उपलब्ध कराने के लिए सदैव प्रयासरत रहते हैं और उनके इलाज में हरसंभव सहयोग करना उनकी नियति बन गई है। अगर इन मरीजों को किसी कारणवश सरकारी रूप से आर्थिक सहयोग नहीं मिल पाता है तो ऐसे में वे खुद इनके लिए रहनुमा बनकर आगे आते हैं और उनकी मदद करते हैं ।

विधायक श्री जायसवाल द्वारा किए गए घोषणा अनुरूप वे अपने वेतन के बढ़ोतरी राशि को गरीब मरीजों के इलाज में बखूबी खर्च कर रहे हैं। उनके द्वारा जरूरतमंद मरीजों को हरसंभव आर्थिक सहयोग कर बेहतर इलाज कराया जा रहा है ।

मंगलवार को उन्होंने कोडरमा जिला के बरकट्ठा विधानसभा क्षेत्रांतर्गत स्थित जयनगर निवासी एक मरीज रोहित गुप्ता की माँ को उनके ईलाज के लिए 25 हज़ार रु० का चेक देकर आर्थिक सहयोग किया। मरीज रोहित गुप्ता अवांछित बीमारी रूपी आपदा से पीड़ित हैं| उनकी किडनी खराब हो चुकी है| प्राप्त जानकारी के मुताबिक़ युवा रोहित की माँ ने दुसरे के घरों में काम करके उसे पढाया- लिखाया| रोहित भी कड़ी मेहनत कर अपने घर की माली हालत को देखकर नौकरी के लिए प्रयासरत था और उसने अपने मेहनत के बदौलत झारखंड पुलिस की बहाली में लिखित और शारीरिक परीक्षा उत्तीर्ण कर ली लेकिन मेडिकल जांच के दौरान पता चला की उनकी किडनी खराब है| रोहित जो अपने घर को संवारने का सपना देख रहा था वह टूट गया और अपनी माँ के लिए मुसीबत बनकर रहा गया| लेकिन रोहित की माँ ने इससे लड़ने का मन बनाया इसे बोझ नहीं समझकर उसके ईलाज के प्रयास में जुट गई है| आयुष्मान भारत योजना के तहत इन्हें 05 लाख का सहयोग प्राप्त हो रहा है| लेकिन इन्हें और पैसे की दरकरार है| ऐसे में जब उनकी माँ अपने बेटे के लिए मदद माँगने विधायक श्री जायसवाल के कार्यालय में पंहुची तो उन्होंने तुरंत २५ब हज़ार रुपये का चेक उन्हें सौंपा |

About the author

You may also like

भाजयुमो की नवगठित टीम के साथ जिलाध्यक्ष ने किया बैठक, पार्टी के उद्देश्यों को जनजन तक पहुंचाने का दिया निर्देश

भाजयुमो की नवगठित टीम के साथ जिलाध्यक्ष ने