कंगना रनौत बोलीं- रेनोवेशन के लिए नहीं है पैसे, टूटे हुए ऑफिस से करूंगी काम

कंगना रनौत बोलीं- रेनोवेशन के लिए नहीं है पैसे, टूटे हुए ऑफिस से करूंगी काम

 

Barhi live : sonu pandit

बॉलीवुड एक्ट्रेस कंगना रनौत के मुंबई स्थित ऑफिस में बीएमसी ने अवैध निर्माण का हवाला देते हुए बुधवार को जमकर तोड़फोड़ की। गुरुवार को वह अपने ऑफिस की हालत देखने के लिए पहुंचीं। इसके बाद उन्होंने महाराष्ट्र सरकार पर जमकर निशाना साधा। अब कंगना ने कहा कि वह अपने टूटे हुए ऑफिस से ही काम करेंगी क्योंकि उनके पास इसे ठीक कराने के लिए पैसे नहीं है।

कंगना ने ट्वीट किया, ”मेरे ऑफिस की ओपनिंग 15 जनवरी को हुई थी। इसके कुछ समय बाद कोरोना आ गया। कई लोगों की तरह मेरे पास भी तभी से काम नहीं था। ऑफिस को रिनोवेट करने के लिए मेरे पास पैसे नहीं है। मैं तबाह ऑफिस से काम करूंगी। यह टूटा ऑफिस एक महिला की इच्छा का प्रतीक है, जिसने इस दुनिया में उठने का साहस दिखाया है।”

 

बीएमसी की तोड़फोड़ के बाद कंगना ने गुरुवार को ऑफिस पहुंचकर नुकसान का जायजा लिया। वह ग्राउंड फ्लोर, फर्स्‍ट फ्लोर और सेकेंड फ्लोर पर गईं और टूट हुए मलबे को देखा। इसके बाद वह अपने घर के लिए निकल गईं। बता दें कि एक दिन पहले, बॉम्बे हाईकोर्ट ने कंगना के बंगले में अवैध निर्माण को तोड़ने की प्रक्रिया पर बुधवार को रोक लगा दी। कोर्ट ने बीएमसी से यह भी पूछा था कि नगर निकाय के अधिकारी संपत्ति में तब क्यों गए, जब मालिक (कंगना) वहां मौजूद नहीं थीं।

वहीं, शिवसेना ने मुखपत्र ‘सामना’ के मराठी संस्करण के पहले पेज पर बीएमसी की कार्रवाई के बारे में खबर लिखी है। इस खबर की हेडलाइन है- ‘उखाड़ दिया।’ इसमें कंगना के दफ्तर पर चले बुल्डोजर के बारे में जानकारी दी गई है। वहीं, खबर में कंगना रनौत द्वारा मुंबई की पाकिस्तान अधिकृत कश्मीर से तुलना का भी जिक्र है। ‘सामना’ की खबर में कंगना रनौत के दफ्तर पर कोर्ट की रोक के बारे में भी लिखा गया है। इसके अलावा, एनसीपी चीफ शरद पवार की पूरे मामले में टिप्पणी का भी जिक्र है।

You may also like

रुर्बन मिशन के तहत डिजिटल जागरूकता अभियान का चलाया गया तीसरा यूनिट

रुर्बन मिशन के तहत डिजिटल जागरूकता अभियान का