पलामू के मुरारी ज्वेलरी लूटकांड मामले में 4 आरोपी गिरफ्तार, एक किलो चांदी समेत करीब 3 लाख रुपये बरामद

पलामू के मुरारी ज्वेलरी लूटकांड मामले में 4 आरोपी गिरफ्तार, एक किलो चांदी समेत करीब 3 लाख रुपये बरामद

Jharkhand news : पलामू शहर के मुरारी ज्वेलर्स में लूटकांड में शामिल गिरफ्तार आरोपियों के बारे में जानकारी देते एसपी.  पलामू शहर के मुरारी ज्वेलर्स में लूटकांड में शामिल गिरफ्तार आरोपियों के बारे में जानकारी देते एसपी.

Barhi live : Sonu pandut   मेदिनीनगर (पलामू) : पलामू जिला अंतर्गत जैन मंदिर रोड स्थित मुरारी ज्वेलर्स लूटकांड का पुलिस ने खुलासा कर दिया है. पुलिस ने घटना में शामिल 4 आरोपियों को पकड़ा है. साथ ही पुलिस ने लूटी हुई एक किलो चांदी और चांदी बेच कर रखे गये नकद दो लाख 87 हजार रुपये बरामद किये है. घटना में प्रयुक्त मोटरसाइकिल को भी पुलिस ने जब्त कर लिया है. अंतरराज्यीय गिरोह द्वारा लूट की इस घटना को अंजाम दिया गया है. बता दें कि शहर के जैन मंदिर रोड में स्थित मुरारी ज्वेलर्स में 20 सितंबर, 2020 को दिनदहाड़े लूट की घटना हुई थी. दोपहर के 3:30 बजे आरोपियों ने मुरारी ज्वेलर्स में घुसकर 5 किलो चांदी और 100 ग्राम सोना की लूट की थी.

इस संबंध में पलामू के पुलिस अधीक्षक (SP) संजीव कुमार ने बताया कि मेदिनीनगर के जैन मंदिर रोड में स्थित मुरारी ज्वेलर्स मे लूट की घटना को अंजाम देने के लिए अपराधी पिछले एक साल से रेकी कर रहे थे. हर गतिविधि पर अपराधियों की नजर थी. रविवार का दिन अपराधियों ने इसलिए चुना क्योंकि इस दिन आम दिनों की अपेक्षा बाजार में भीड़ कम रहती है. मौका देखकर अपराधियों ने घटना को अंजाम दिया.
इस लूटकांड की घटना के बाद एसपी ने 21 सितंबर को एसडीपीओ संदीप गुप्ता के नेतृत्व में विशेष अनुसंधान दल का गठन किया था. इस टीम में प्रशिशु आईपीएस कपिल चौधरी, शहर थाना प्रभारी अरुण महथा, चैनपुर थाना प्रभारी सुनीत कुमार शामिल थे. एसपी श्री कुमार ने बताया कि इस घटना का मास्टरमाइंड पांकी का रमेश राम है. रमेश ने मेदिनीनगर के भट्टी मुहल्ला के सौरभ राम, चैनपुर के सोनू सोनी और गढ़वा के अनिल राम के साथ मिल कर लूट की योजना तैयार की थी.

इसमें शाहपुर निवासी राजेंद्र सोनी ने ज्वेलरी दुकान का पता और उसकी हर गतिविधियों के बारे में जानकारी देने में मुख्य भूमिका अदा किया. वहीं, गढ़वा का अनिल राम 2 माह तक मुरारी ज्वेलर्स के ऊपरी तल्ले में किरायेदार के रूप में रहता था. 22 मार्च को लॉकडाउन के बाद अनिल वापस गढ़वा लौट गया था. अनिल और राजेंद्र ने गतिविधि की पूरी जानकारी प्राप्त कर ली थी. उसके बाद लूट की कार्य योजना तैयार हुई. लूट के बाद अपराधियों ने माल ले जाकर बिहार के औरंगाबाद में बेचा था.

ज्वेलर्स लूटकांड में गिरफ्तार शामिल आरोपियों में गढ़वा के अनिल राम, चैनपुर सोनार मुहल्ला के मोनू सोनी, चैनपुर थाना क्षेत्र के शाहपुर के राजेद्र सोनी और औरंगाबाद, बिहार के गोलू सोनी का नाम शामिल है.

आपस में रिश्तेदार हैं आरोपी, लूटकर खोलना चाहते थे अपना दुकान

मुरारी ज्वेलर्स लूटकांड में शामिल आरोपी सोनू और मोनू सगा भाई है. दोनों मूल रूप से चैनपुर के रहने वाले हैं. बिहार के औरंगाबाद में आरोपी सोनू-मोनू का नैनिहाल है. इस घटना में शामिल गोलू सोनी ने ही मुरारी ज्वेलर्स में लूटे गये समान की बिक्री कराने का काम किया. लूट की घटना में गोलू भी शामिल था. 2 साल पहले औरंगाबाद में एक ज्वेलर्स दुकान में हुई भीषण लूटकांड में भी गोलू शामिल था. मुरारी ज्वेलर्स में लूट की घटना को अंजाम देने वालों में मोनू ने अहम भूमिका निभायी थी.

खूंटी से चोरी बाईक से लूटकांड को दिया अंजाम

जिस मोटरसाइकिल का प्रयोग लूटकांड में किया गया था वह मोटरसाइकिल भी चोरी की निकली. एसपी संजीव कुमार ने बताया कि बरामद मोटरसाइकिल खूंटी से चोरी की गयी है. पूछताछ के दौरान अपराधियों ने बताया कि उनलोगों की भी योजना ज्वेलरी का एक बड़ा दुकान खोलने की थी. इसलिए उनलोगों ने मिलकर लूट की घटना को अंजाम दिया था. मालूम हो कि मुरारी ज्वेलर्स से 5 किलो चांदी और 100 ग्राम सोना की लूट हुई थी.

आरोपियों को सबकुछ आसानी से मिल गया

छानबीन के दौरान पुलिस ने पाया कि मुरारी ज्वेलर्स में लूट के लिए आरोपियों को कोई मशक्कत नहीं करनी पड़ी. दुकान के मालिक भी सुरक्षा को लेकर सचेत नही थे. एसपी संजीव कुमार ने बताया कि दुकान में सीसीटीवी कैमरा था. मगर घटना के वक्त वह बंद था. सेफ भी खुला था. इसलिए आरोपी वहां आसानी से अपना काम करके निकल गये. बल का प्रयोग भी नहीं करना पड़ा. एसपी श्री कुमार ने कहा कि व्यवसायी भी अपने प्रतिष्ठान के सुरक्षा के प्रति गंभीर रहे. सीसीटीवी कैमरा लगाये. यदि कैमरा लगाये हैं, तो वह हमेशा सक्रिय रहे. इसे सुनिश्चित करें. सुरक्षा का बेहतर माहौल तैयार करना पुलिस की प्राथमिकता है. पुलिस अपना काम कर रही है, लेकिन अपेक्षित जन सहयोग भी जरूरी है. एसपी श्री कुमार ने बताया कि इस घटना को उद्भेदन करने में शामिल एसडीपीओ संदीप गुप्ता, प्रशिक्षु आईपीएस कपिल चौधरी सहित सभी पदाधिकारी तथा अन्य कर्मी पुरस्कृत किये जायेंगे.

 

You may also like

कृषि सुधार कानून के तहत 2022 तक किसानों की आय होगी दोगुनी

Barhi live : sonu pandit   बरही प्रखण्ड के