श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन के तहत किसानों को जैविक खेती को लेकर दस दिवसीय प्रशिक्षण का शुभारंभ

श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन के तहत किसानों को जैविक खेती को लेकर दस दिवसीय प्रशिक्षण का शुभारंभ

श्यामा प्रसाद मुखर्जी रूर्बन मिशन के तहत किसानों को जैविक खेती को लेकर दस दिवसीय प्रशिक्षण का शुभारंभ

Barhi live : Sonu pandit   बुधवार को अवतार डेवलपमेंट फाउंडेशन संस्था ने गौरियाकरमा स्थित फार्म में दस दिवसीय जैविक खेती का प्रशिक्षण कार्यक्रम प्रारंभ किया।

इस जैविक खेती प्रशिक्षण कार्यक्रम का उदघाटन बरही विधायक उमाशंकर अकेला, उपविकास आयुक्त अभय कुमार सिन्हा ने दीप प्रज्वलित कर किया।

इस अवसर पर बरही अनुमंडल पदाधिकारी डॉ कुमार ताराचंद, बरही प्रखण्ड विकास पदाधिकारी अरुणा कुमारी, विधायक प्रतिनिधि बिनोद यादव, प्रखंड कृषि पदाधिकारी आजाद सिंह, गौरिमाकरमा मुखिया मनोज कुमार, बरही प्रखण्ड निदेशक अवतार डेवलपमेंट उपस्थित रहे।

अवतार फाउण्डेशन के निदेशक ने बताया कि गोरियाकरमा पंचायत में सामूहिक जैविक खेती हेतु श्यामा प्रसाद मुखर्जी रुर्बन मिशन के तहत गोरियाकरमा में जैविक क्लस्टर समूह का गठन किया गया है।

जिसके द्वारा गोरियाकरमा गाँव में 13 एकड़ भूमि पर सामूहिक रूप से जैविक खेती का कार्य किया जाना है। इस जैविक खेती के तहत विभिन्न प्रकार की सब्जियों की खेती की जानी है एवं सामूहिक रूप से इसकी कटिंग भी की जानी हैं।

इस जैविक कलस्टर में किसी भी प्रकार का रासायनिक खाद्य, कीटनाशक आदि का उपयोग नहीं करना है। यह जैविक खेती पूर्ण रूप से जहर मुक्त खेती होगी। इस जैविक खेती में केवल गोबर, गौमुत्र एवं अन्य जैविक दवा एवं जैविक टॉनिक का उपयोग किया जाना है।

इस दस दिवसीय प्रशिक्षण के दौरान जैविक खेती को लेकर जैविक खाद्य तैयार करने की विधि, खेत तैयार करने की तकनीक आदि का प्रक्षिक्षण दिया जाएगा। जिससे किसान आसानी से जैविक खेती कर सकेंगे।

साथ ही श्यामा मुखर्जी रूर्बन मिशन के तहत किसानों को सिंचाई के लिए डीप बोरिंग, बून्द-बून्द सिंचाई, जेनरेटर रूम, जेनरेटर आदि मुहैया कराई जाएगी। विधायक उमाशंकर अकेला ने किसानों का हौसला अफजाई करते हुए कहा कि किसान देश व राज्य की समृद्धि के लिए कार्य करते हैं।

राज्य सरकार उन्हें बढ़ावा देने के लिए लगातार कार्य कर रही हैं। वहीं उप विकास आयुक्त अभय कुमार सिन्हा ने किसानों को जैविक खेती से होने वाले लाभों के बारे में विस्तार रूप से बताया। बरही अनुमंडल पदाधिकारी डॉ कुमार ताराचंद ने किसनो को संबोधित करते हुए रासायनिक खेती से होने वाले विभिन्न प्रकार के नुकसान एवं जैविक खेती से होने वाले लाभ को गिनवाया।

प्रखण्ड विकास पदाधिकारी, प्रखण्ड कृषि पदाधिकारी ने भी जैविक खेती के महत्व एवं आवश्यकताओं के बारे में किसानों को बताया। साथ ही इस प्रक्षिक्षण का लाभ लेने का सलाह दिया। कार्यक्रम को सफल बनाने में अवतार संस्था के स्टेट हेड शम्भू शरण सिन्हा, परियोजना समन्वयक शिवेश वर्मा, प्रशिक्षण अजित कुमार सिन्हा, फील्ड कोडिनेटर महेन्द्रजीत लाल, ब्रजकिशोर शर्मा, सौरभ वर्मा, चंद्रिका प्रसाद ने सक्रिय भूमिका निभाई।

You may also like

कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने किया समीक्षात्मक बैठक, बरही विधायक हुए शामिल

कांग्रेसी कार्यकर्ताओं ने किया समीक्षात्मक बैठक, बरही विधायक