सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट करना युवाओं को पड़ सकता हैं भारी, जा सकते हैं जेल: इंस्पेक्टर

सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट करना युवाओं को पड़ सकता हैं भारी, जा सकते हैं जेल: इंस्पेक्टर

प्रबुद्ध लोगों के साथ बैठक करते प्रशासनिक अधिकारी

सोशल मीडिया को लेकर बरही थाना में प्रबुद्ध लोगों के साथ कार्यशाला का आयोजन

बरही लाइव : उषा रानी

बरही में आए दिन सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट डालने को लेकर उत्पन्न विषम परिस्थिति को देखते हुए बरही का प्रशासन अब गंभीर हो गया है । उन्होंने इस मामले को लेकर बरही वासियों को एक सख्त संदेश देना चाह रहा है कि सोशल मीडिया पर प्रशासन की पैनी नजर है । इसलिए सोशल मीडिया पर लोग सोच समझकर पोस्ट करें नहीं तो उन पर विधि सम्मत कार्रवाई की जा सकती है ।

इसी मामले को लेकर शुक्रवार देर शाम बरही थाना में प्रशासनिक पदाधिकारियों ने बरही के प्रबुद्ध जनों शिक्षाविदों, सामाजिक कार्यकर्ताओं एवं राजनीतिक दलों के नेताओं के साथ एक कार्यशाला का आयोजन किया गया। जिसमें बरही में आए दिन हो रहे सोशल मीडिया में आपत्तिजनक पोस्ट के बारे में विस्तार से जानकारी दी गई साथ ही बताया गया की युवा वर्ग सोशल मीडिया पर किसी तरह की धार्मिक भावना को ठेस पहुंचाने वाले आपत्तिजनक पोस्ट ना डालें नहीं तो इसमें किसी तरह की कोई पैरवी नहीं चलेगी और दोषी व्यक्ति जेल जाएंगे इसलिए जरूरी है की बरही के प्रबुद्ध जन ,सामाजिक कार्यकर्ता एवं राजनीतिक दल के नेता लोग भी गांव में अपने स्तर से प्रचार प्रसार करें कि सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट डालना आईटी एक्ट के तहत अपराध है। इसमें जेल जाना सुनिश्चित रहता है ।

बरही भाई चारगी एवं प्रेम का संदेश देता रहा है, लेकिन कुछ लोगों के द्वारा आपत्तिजनक पोस्ट डालने के कारण इधर कुछ दिनों से दो समुदायों के बीच खटास उत्पन्न हुई है जिस पर रोक लगाना जरूरी है ।जल्दी सामाजिक तौर पर इस पर रोक नहीं लगाई जाती है तो प्रशासन अपना करवाई जरूर करेगा ।सोशल मीडिया पर आपत्तिजनक पोस्ट करने वाले को जेल भेजा जायेगा। उक्त बातें पुलिस निरीक्षक सह थाना प्रभारी ललित कुमार ने अपने थाना परिसर में पत्रकारों व प्रबुद्ध लोगों से कहीं। उन्होंने कहा कि सोशल मीडिया पर पुलिस व अनुमंडल प्रशासन की पैनी नजर बनी हुई है।

आपत्तिजनक पोस्ट करने वाले असामाजिक तत्वों पर भी नजर रखी जा रही है। देखा जा रहा है की कुछ असमाजिक तत्वों के द्वारा धर्म को लेकर आपत्तिजनक टिप्पणी की जा रही है। गलत अफवाह भी फैला कर असहजता फैलाया जा रहा है। फेसबुक व वाट्सएप पर इस तरह का मामला देखा जा रहा है। जाति-धर्म को लेकर वाट्सएप व फेसबुक पर कॉमेंट्स कर शांति भंग करने की कोशिश की जा रही है। ऐसे लोगों को चिन्हित कर लगातार कार्रवाई की जा रही हैं। किसी भी समुदाय के धर्म पर चोट पहुंचाने वालो को कतही नही बख्सा जाएगा। पुलिस निरीक्षक ललित कुमार ने अभिभावकों से अपील किया कि वह अपने अपने बच्चों का मोबाइल अवश्य देखें। उनपर विशेष ध्यान देने की जरूरत हैं। उन्होंने बताया कि युवा हमारे देश के भविष्य हैं, अगर उन्हें जेल भेजा जाता हैं, तो हमारे समाज का ही नुकसान होगा। उन्होंने दोनों समुदाय के लोगों का सामंजस्य बनाकर एक कमिटी बनाने का निर्णय लेने का सलाह दिया। इसके अलावा सभी प्रबुद्ध लोगों ने अपना अपना मन्तव्य दिया।

मौके पर जिला 20 सूत्री कार्यान्वयन समिति उपाध्यक्ष महावीर साहू, वरिष्ठ कांग्रेस नेता रमेश ठाकुर, 20 सूत्री प्रखण्ड अध्यक्ष मोतीलाल चौधरी, जिला परिषद सदस्य संतोष रविदास, युवा नेता अजय दुबे, कांग्रेस प्रखण्ड अध्यक्ष इकबाल रजा, भाजपा मंडल अध्यक्ष जितेंद्र गिरी, सुरेंद्र रजक, परमेश्वर यादव, अब्दुल मनान वारसी, एएसआई अनिल सिंह, धनवार पूर्व मुखिया राजेन्द्र प्रसाद, बरही पूर्वी मुखिया छोटन ठाकुर, मो तौकीर रजा, बद्री साव, दुलमाहा मुखिया प्रतिनिधि पप्पू असलम, राजेश केशरी उर्फ मेवालाल, सीताराम यादव, मो वारिस अंसारी, दिनेश साव, रघुनाथ साव, मो तैयब, गोपाल पंडित, देवधारी प्रजापति, अब्दुल रजाक, मो मेराज हुसैन, क्यूम मियां, संजय गोप, दीपक कुमार, अमर कुमार, शशि कुमार, मो सद्दीक, नितेश कुमार, बीरेंद्र कुमार, अरुण प्रजापति अनिल कुमार, परमेश्वर प्रजापति, सुमन कुमार सहित दोनों समुदाय के दर्जनों लोग मौजूद थे।

About the author

You may also like

खोड़ाहार पंचायत में ग्राम सभा सम्पन्न, राजेन्द्र नारायण सिंह चुने गए कार्यकारी समिति सदस्य

खोड़ाहार पंचायत में ग्राम सभा सम्पन्न, राजेन्द्र नारायण