टिकट बंटवारा का मापदंड जाति नही बल्कि पार्टी के प्रति समर्पण होनी चाहिएः संजीव कतरियार

टिकट बंटवारा का मापदंड जाति नही बल्कि पार्टी के प्रति समर्पण होनी चाहिएः संजीव कतरियार

स्वस्थ लोकतंत्र के लिए खतरे की घंटी

बरही लाइव : कृष्णा प्रजापति

भाजपा के जिला उपाध्यक्ष एवं समाजसेवी संजीव कतरियार ने वर्तमान समय में पांव पसार रहे जाति रूपी विष पर चिंता जाहिर की है। उन्हाने बरही लाइव से अपनी पीडा बयान करते हुए बताया कि वर्तमान समय में राजनीति जाति धर्म के चंगुल में फंसता जा रहा है। यह लोकतंत्र के लिए शुभ संकेत नही है।

उन्होने देश की वैसे सभी राजनीति पाटियों को आडे हाथ लिया है जिसने टिकट बंटवारा का मापदंड जाति को चुना है। उन्होने बताया कि आज अक्सर सभी पार्टियां इस बात पर ध्यान देती है कि जिस व्यक्ति को टिकट दिया जा रहा है वह उम्मीदवार किस जाति का है और उस जाति की संख्या उस क्षेत्र में कितनी है। जिसके कारण पार्टी के समर्पित कार्यकर्ता राजनीति में अपनी कैरियर बनाने में पीछे रह जाते  है। इस पर विचार करने की जरूरत है। इसलिए टिकट बंटवारा का मापदंड जाति धर्म नही बल्कि पार्टी के प्रति समर्पण एवं कार्यशैली होनी चाहिए। तभी स्वच्छ, स्वस्थ लोकतंत्र के निर्माण का मार्ग प्रशस्त हो पाएगा।

You may also like

भाजयुमो की नवगठित टीम के साथ जिलाध्यक्ष ने किया बैठक, पार्टी के उद्देश्यों को जनजन तक पहुंचाने का दिया निर्देश

भाजयुमो की नवगठित टीम के साथ जिलाध्यक्ष ने