विधानसभा सत्र में बरही विधायक उमाशंकर अकेला ने धोबघट, नरसिंघवा सहित अन्य आदिवासी क्षेत्रों में अविलम्ब बिजली बहाल करने का उठाया मांग

0

विधानसभा सत्र में बरही विधायक उमाशंकर अकेला ने धोबघट, नरसिंघवा सहित अन्य आदिवासी क्षेत्रों में अविलम्ब बिजली बहाल करने का उठाया मांग

Barhi live : Sonu pandit  निवेदन समिति के सभापति सह बरही विधानसभा के विधायक उमाशंकर अकेला ने विधानसभा सत्र में जल संसाधन विभाग के मंत्री से सवाल करते हुए कहा कि हजारीबाग जिला अन्तर्गत बरही प्रखण्ड के आदिवासी बहुल क्षेत्र धोबघट, नरसिंघवा, पिंडवा, परसातरी में आजादी के बाद आज तक विद्युतीकरण का कार्य नहीं किया गया हैं।

गाँव में विद्युतीकरण नहीं होने के कारण जंगल में रहने वालों ग्रामीणों के बच्चों को पढ़ने में काफी परेशानी होती है एवं वे विकास से काफी दूर हैं।

उन्होंने मंत्री से सवाल किया कि अब तक उक्त क्षेत्रो में बिजली नही रहने से ग्रामीणों को काफी परेशानी हो रही है। इस दिशा में अविलम्ब कार्रवाई करते हुए बिजली बहाल करने का अनुरोध किया।

उन्होंने जानकारी देते हुए बताया कि वह राजनीति के शुरुआत से ही दबे कुचले आम व्यक्ति के आवाज को बुलन्दी से उठाकर ही राजनीति की शुरुआत किया हैं। आम लोगों को सरकारी सभी सुविधाएं व उनका सर्वांगीण विकास करना ही मूल उद्देश्य हैं।

पिछले एक वर्षो में कोरोना काल के कारण विकास का कार्य प्रभावित रहा, लेकिन कोरोना काल की समाप्ति के पश्चात अब राज्य सरकार विकास के प्रति दृढसंकल्पित हैं।

बताते चलें कि चुनाव से पूर्व रानीचुंवा के सुदूरवर्ती पंचायत धोबघट सहित विभिन्न गांव का दौरा करते हुए ग्रामीणों को आश्वस्त किया था कि दलितों, अभवंचितो व असहायों का विकास करना ही उनका प्राथमिकताओं। में शामिल है।