वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी का 95 साल की उम्र में निधन

वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी का 95 साल की उम्र में निधन

Barhi Live : Rakesh Roshan


  • जेठमलानी के नाम देश में सबसे कम उम्र और सबसे अधिक उम्र के वकील होने का रिकॉर्ड
  • 19 साल की उम्र में वकालत शुरू की, 77 साल इस पेशे में रहे
  • 2004 में अटलजी के खिलाफ निर्दलीय उम्मीदवार के तौर पर चुनाव लड़ा, लेकिन हारे
  • 2017 में कहा था- 76 साल से प्रैक्टिस कर रहा हूं, पर कोई आदर्श नहीं मिला
  • मौजूदा समय में वे बिहार से राजद के राज्यसभा सांसद थे

वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी का 95 साल की उम्र में निधन हो गया। उन्होंने रविवार को सुबह 7.45 बजे दिल्ली स्थित अपने आवास पर अंतिम सांस ली। राम जेठमलानी पिछले दो हफ्ते से गंभीर रूप से बीमार थे। जेठमलानी अटल बिहारी वाजपेयी की सरकार में केंद्रीय कानून मंत्री के अलावा शहरी विकास मंत्री रहे। वर्तमान में बिहार से राष्ट्रीय जनता दल (राजद) के राज्यसभा सांसद थे।

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद, प्रधानमंत्री नरेंद्र मोदी और गृह मंत्री अमित शाह समेत कई नेताओं ने उनके निधन पर दुख जताया। दैनिक भास्कर को दिए इंटरव्यू में उन्होंने कहा था कि राजनीति में धूर्त लोग ज्यादा है। मेरा मकसद राजनीति से भ्रष्टाचार खत्म करना है।

‘हमने असाधारण वकील खोया’

राष्ट्रपति रामनाथ कोविंद ने कहा, “पूर्व केंद्रीय मंत्री और वरिष्ठ वकील राम जेठमलानी के निधन पर दुखी हूं। वह सार्वजनिक मुद्दों पर अपनी वाकपटुता के लिए जाने जाते थे। देश ने विद्वान और प्रसिद्ध कानूनविद खोया है।”

You may also like

गोड्डा के एक आश्रम में साध्वी के साथ हुई सामुहिक बलात्कार का बरही के भाजपा व विहिप कार्यकर्ताओं ने किया घटना की निंदा

Barhi Live : Sonu Pandit झारखंड के गोड्डा